पालती मारकर भोजन करने से होते हैं सभी रोग दूर

डाइनिंग टेबल पर बैठकर खाना खाना आधुनिकता का प्रतीक भले ही मान लिया जाए लेकिन पालथी मारकर खाना खाने के बहुत लाभ हैं। व्यक्ति कितना भी पैसे वाला हो उसे अपने स्वास्थ्य की दृष्टि से पालथी मारकर ही बैठकर खाना खाना चाहिए।

कभी हड्डियों की समस्या होगी

पालथी मारकर बैठकर भोजन करने से व्यक्ति का संपूर्ण स्वास्थ्य बहुत मजबूत होता है। यदि यह आदत आप बचपन से ही डाल लेते हैं कि भोजन हमको पालथी मारकर बैठकर ही करना है तो ना तो भविष्य में आपको कभी हड्डियों की समस्या होगी ना कभी जोड़ों में दर्द होगा और आपकी रीड से संबंधित किसी भी प्रकार की बीमारियां नहीं होंगी।

आजकल हड्डियों में अनेक प्रकार की समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं उसके पीछे कारण यही है हमारे बैठने उठने का सही ढंग नहीं है। जब हम पालथी मारकर भोजन करते हैं, उस स्थिति में हमारी रीढ़ की हड्डी एकदम सीधी रहती है। जठराग्नि भी सही काम करती है। पालथी मारकर बैठते हैं तो अधिकांश रक्त हमारे ऊपर के हिस्से में आ जाता है। जब भोजन करके हम उठते हैं तो रक्त पूरे शरीर में भोजन में से प्रचुर मात्रा में पोषक तत्वों को पूरे शरीर को पहुंचाने में सक्रिय हो जाता है।

लेकिन आज का दौर तो कुछ ऐसा हो गया है, कि पालथी मारकर भोजन ना करके डाइनिंग टेबल पर बैठकर भोजन करने की आदत बन गई है। पालथी मारकर भोजन बैठकर करने से, डाइनिंग टेबल पर बैठकर भोजन की व्यवस्था बन गई। अब तो शादी विवाह में लोग अक्सर बैठने की जगह खड़े होकर ही भोजन कर रहे हैं यानी स्थिति बिल्कुल ही उलट हो गई है।

अधिकांश व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से ग्रसित

इन सब स्थितियों की वजह से आज अधिकांश व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से ग्रसित हो गए हैं । जो व्यक्ति पालथी मारकर भोजन करता है उसे ना तो कभी दांतो से संबंधित रोग होते हैं ना ही उसे एसिडिटी होती है ना ही उसे जोड़ों के दर्द होते हैं ना ही उसके घुटने खराब होते हैं ना ही उस पर मोटापा चढ़ता है न ही बीपी,डायबिटीज, हृदय रोग, स्ट्रोक आदि कोई समस्या होती है । मस्तिष्क संबंधित रोग भी नही होते। अपने बच्चों को पालथी मारकर बैठकर भोजन करने की आदत डालनी चाहिए।

आप यदि ये समझें कि आज हमने पालथी मारकर भोजन किया तो हमें कोई फायदा नही हुआ ये सब फायदे लंबे अभ्यास के बाद ही होंगे।