गहरी नींद हमारे लिए क्यों जरूरी है

अच्छी नींद गहरी नींद लाने के लिए आपको कई बातों का ध्यान रखना होगा आज मैं आपको उन बातों को बताता हूं जिन बातों को आप को ध्यान रख कर अच्छी और गहरी नींद ले सकते हैं।

क्यों जरूरी है नींद हमारे लिए

आज मैं बात करना चाहूंगा कि नींद हमारे लिए क्यों जरूरी है जब व्यक्ति पर काम का बोझ बढ़ जाता है तब वह नींद की समय को कम करता है। वह व्यक्ति सोचता है कि में कम सोऊंगा और ज्यादा काम करूंगा। यह सच नहीं है और सही नही है। अधिक सोना समय खराब करना नहीं होता है लेकिन प्रत्येक व्यक्ति को आवश्यकता के अनुसार कम से कम 6 से 8 घंटे की नींद लेना आवश्यक है

अच्छे स्वास्थ्य की निशानी है अच्छी नींद आना

यह इस बात पर निर्भर करता है कि व्यक्ति कितनी गहरी नींद सोता है। यदि व्यक्ति गहरी नींद सोता है तो 6 घंटे की नींद ही काफी है। अच्छी नींद आना अच्छे स्वास्थ्य की निशानी है।

व्यक्ति निद्रा में अपने शरीर की टूट-फूट की मरम्मत करता है। शरीर के अंदर के विकारों को बाहर निकाल कर अपने शरीर को स्वस्थ करता है। और दूसरे दिन फिर से काम करने की शक्ति प्राप्त करता है।

शरीर को आराम ना देना रात भर जागना, या मोबाइल पर देर रात तक लगे रहना अपने स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करना है।

अच्छी नींद न आने से व्यक्ति बनता है रोगी

मीठी नींद लोगों को आनंद और ताजगी प्रदान करती है लेकिन कई लोग ऐसे भी हैं जिन्हें रात भर नींद नहीं आती और कुछ ऐसे भी हैं रात और खर्राटे लेते रहते हैं और यह निर्णय नहीं कर पाते कि रात भर सोए या जागे हैं। यह दशा अक्सर धीरे-धीरे उत्पन्न होती है व्यक्ति को फिर रोगी बना देती है। कभी-कभी आत्मग्लानि के कारण भी नींद नहीं आती। ज्यादा सोच विचार करने से भी नींद नही आती।

5 वर्ष तक के बच्चों को अधिक से अधिक सोने देना चाहिए। क्योंकि कि वे अपने शरीर का निर्माण कर रहे होते हैं। 50 से ऊपर 6 घंटे तथा आम व्यक्ति को 8 घंटे की नींद लेना जरूरी होता है।

गहरी नींद लाने के लिए रखना होगा इन बातों का ध्यान

अच्छी नींद गहरी नींद लाने के लिए आपको कई बातों का ध्यान रखना होगा आज मैं आपको उन बातों को बताता हूं जिन बातों को आप को ध्यान रख कर अच्छी और गहरी नींद ले सकते हैं।

सोने का जो आपका स्थान हो वह स्वच्छ और हवादार होना चाहिए। जिस कपड़े को आप बिछाकर सो रहे वह साफ सुथरा और सूती होना चाहिए। बिस्तर ऐसा होना चाहिए जिस पर आपकी रीढ़ की हड्डी सीधी बनी रहे जिससे कि आपकी रीढ़ की हड्डी से रक्त का संचार सही बना रहे।

मुंह को कपड़े आदि से ढककर नहीं सोना चाहिए। सोते समय पेट हल्का होना चाहिए बहुत अधिक भरे हुए पेट के साथ नहीं सोना चाहिए सोने से पहले 3 घंटे खाना खा लेना चाहिए। सोने से पहले आप पालथी मारकर बैठ जाएं और 10 मिनट लंबी श्वास लें और छोड़ें। उसके बाद बायीं करवट लेकर सो जाएं।

सोने से एक घंटा पहले पानी या दूध पीकर सो सकते हैं। सोते समय कम से कम कपड़े पहनें, जो भी कपड़े पहने वे ढीले होने चाहिए।

इन नियमों का यदि आपने पालन कर लिया तो अच्छी नीद आएगी और आपका स्वास्थ्य भी अच्छा हो जाएगा। गहरी नींद लेने से आपके शरीर की अनेक गतियां आपके अनुकूल हो जाती हैं जिससे आपका शरीर स्वस्थ बनता है और आप अगले दिन काम करने के लिए पूरी ताकत के साथ तैयार हो जाते हैं। इसको दूसरे शब्दों में कह सकते हो कि आपकी बैटरी पूरी तरह चार्ज हो गई और अब वह सारे कार्य करने को तैयार हैं।

नींद लाने के लिए रखें इन बातों का ध्यान

कुछ लोगों को नींद ना आने की बीमारी होती है ऐसे लोगों को शाम को हल्का भोजन करना चाहिए और भोजन करने से पहले घूमने जाना चाहिए और भोजन करने के बाद थोड़ा टहलना चाहिए और ऐसे लोगों को सोने से पहले लगभग 20-25 मिनट पालथी मारकर बैठना चाहिए और उसके बाद फिर लेट जाना चाहिए उनको नींद आ जाएगी।

जब पालथी मारकर बैठे हैं तो ध्यान अपनी सांसो की गति पर होना चाहिए और उसके बाद जब लेट जाएं तो भी सांसो की गति पर होना चाहिए। इससे एक खास बात होगी वह यह होगी कि आपके दिमाग में चल रहे जितने भी विचार हैं जो आपको सोने नहीं दे रहे हैं वह विचार श्वास पर ध्यान रखने से एकदम से शांत होने लग जाएंगे। जब विचार शांत हो जाएंगे तो आपको अवश्य ही नींद आ जाएगी।