जोड़ों का दर्द जानिए क्यों होता है और क्या है इसका इलाज

आजकल बहुत अधिक संख्या में लोगों को जोड़ों का दर्द हो रहा है। पहले यह समझा जाता था कि जोड़ों और हड्डियों में दर्द होना बुढ़ापे की निशानी है। लेकिन अब युवाओं में भी अक्सर देखने को मिल रहा है। अन्य बीमारियों के साथ जोड़ों के दर्द की समस्याएं अब लोगों में आम हो चली है।

घुटनों में दर्द 40 साल की उम्र के बाद के लोगों को अक्सर दिखाई देने लगा है कमर का दर्द महिलाओं में प्रमुख रूप से में देखने को मिलता है और उनकी संख्या बहुत अधिक है। यदि इस तरह देखा जाए तो आज बहुत बड़ी संख्या में लोग जोड़ों के दर्द कमर के दर्द हड्डियों के दर्द से परेशान हैं।

शहरों में रहने वाले हर दूसरे आदमी को विटामिन डी की कमी है। जिसके कारण हड्डियों की कई प्रकार की समस्याएं उत्पन्न होती हैं। इसी से संबंधित होता है मांसपेशियों में खिंचाव। आज व्यक्ति का उठने बैठने का तरीका बिल्कुल गलत हो चुका है। लोग पालथी मार कर नही बैठते हैं। लोग व्यायाम नहीं करते हैं।

महिलाओं में जोड़ों के दर्द की समस्याएं

जोड़ों के दर्द की समस्याएं पुरुषों से अधिक महिलाओं में पाई जाती हैं। 45 से 50 की उम्र में महिलाओं को रजोनिवृत्ति हो जाती है अर्थात मासिक धर्म बंद हो जाता है जिसकी वजह से भी महिलाओं में हड्डियों की समस्या और अधिक बढ़ जाती है।

जोड़ों के दर्द का प्रमुख कारण क्या है

हमारे शरीर के जितने भी जोड़ हैं उनके बीच में कार्टिलेज होता है अर्थात उनके ऊपर एक परत चढ़ी रहती है जब वह परत घिस जाती है तो हड्डियों से हड्डियां टकराती हैं। जब यह कार्टिलेज या गद्दी जैसी परत घिस जाती है तो जोड़ों में दर्द पैदा हो जाता है।

ज्यादा मसाले वाला भोजन अत्यधिक शराब का सेवन यह भी जोड़ों के लिए पूर्ण रूप से जिम्मेदार है इनकी वजह से किडनी में मूत्र कम या ज्यादा बहने लगता है जिसके कारण शरीर में यूरिक एसिड बढ़ जाता है। यूरिक एसिड के जो क्रिस्टल है वह जोड़ों में जमा हो जाते हैं और गठिया के दर्द का कारण बनते हैं।

जोड़ों के दर्द से बचाव

अपने खान-पान में और अपने रहन-सहन में परिवर्तन करना होगा। जिसकी वजह से आपके शरीर के अंदर विटामिन डी अवशोषण की क्षमता बढ़ सके और कैल्शियम को अवशोषित करने की क्षमता बढ़ सके।

जंक फूड खाने से बचें। हरी सब्जियां सलाद आदि का अधिक मात्रा में सेवन करें। धूप को नियमित रूप से लें। धूप का प्रतिदिन सेवन करना परम आवश्यक है। धूप लेने में कम से कम कपड़े शरीर पर हो तो उसका अधिकतम लाभ मिलेगा। जोड़ों के दर्द में राहत मिलेगी।

यदि आप नियमित रूप से धूप का सेवन करते हैं तो यह आपके लिए सबसे उचित प्राकृतिक तरीका है जोड़ों के दर्द से निवारण पाने का। ज्यादा तेल वाली चीजों का इस्तेमाल ना करें। उच्च प्रोटीन वाली चीजों का भी ज्यादा सेवन ना करें।